Balaghat :Rakhi news

Balaghat (MP)- ​मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा जैविक आध्यात्मिक कृषि सम्मेलन का आयोजन

एक लाख किसानों ने जाना जैविक खेती के साथ आध्यात्मिकता का समावेश

Balaghat-service news (1)


बालाघाट : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना जैविक खेती का प्रचलन तेजी से बढ़ता जा रहा है। इसी कड़ी में

​​

मध्य प्रदेश व छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा बालाघाट में  जैविक आध्यात्मिक कृषि सम्मेलन का आयोजन किया गया।

इसमें मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ के करीब एक लाख किसान शामिल हुए। इसके साथ जैविक और यौगिक खेती का प्रशिक्षण देने तथा प्रोत्साहित करने के लिए मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह, आध्यात्मिक गुरू श्रीश्री रविशंकर, ब्रह्माकुमारीज संस्था के ग्राम विकास प्रभाग की अध्यक्षा बीके सरला मुख्य अतिथि तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में उपाध्यक्ष बीके राजू मौजूद रहे।
बीके सरला ने कहा खेती जब बलवान होगी तो किसान बलवान होगा। जैविक और यौगिक खेती ही एक ऐसा माध्यम है जिससे किसानों में सशक्तिकरण आ सकता है। ब्रह्माकुमारीज का ग्राम विकास प्रभाग लगातार इस क्षेत्र में कार्य कर रहा है। जिससे किसानों में तरक्की आए। बीके राजू ने कहा पूरे देश में जिस तरह से जैविक-यौगिक खेती का विकास हो रहा है यह आने वाले समय के लिए अच्छा संकेत है। एमपी के कृषि मंत्री ने भी अपने विचार व्यक्त किए।भारतीय कृषि में आध्यात्मिकता का समावेश एक नए युग के लिए नई खेती का शुभारंभ होगा।  

– शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, मप्र

किसानों के सर्वागिण का विकास जैविक खेती से ही सम्भव होगा। इससे जहॉं किसानों की अर्थव्यवस्था में वृद्धि होगी वहीं दूसरी ओर किसानों को शुद्ध अनाज मिलेगा।
– रमन सिंह,मुख्यमंत्री, छग